# PMJAY (आयुष्मान भारत) योजना के लाभ, हेल्पलाइन एवं अन्य जानकारियां

0
212

[ad_1]

प्रधानमंत्री नरेंद्र
मोदी द्वारा Pradhanmantri Jan Arogya Yojana  “आयुष्मान भारत योजना
25 सितम्बर 2018 को शुरू की गई है।इसकी घोषणा 1 फरवरी 2018 को की गई थी।
यह स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा लागू की गई है।
 इस योजना के निदेशक डॉ दिनेश अरोड़ा बनाए गए
हैं।

इस योजना को
प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना भी कहा जा रहा है। इस योजना में देश के
10 करोड़ परिवारों को सालाना 5 लाख का स्वास्थ्य बीमा मिलेगा। यह दुनिया की
सबसे बड़ी स्वास्थ्य योजना है।

इस योजना के लाभार्थी
बनने के लिए लोगो को योजना लिस्ट में अपना नाम जुड़वाना पड़ेगा जिसकी योग्यता है-
ग्रामीण इलाके में कच्चा घर हो
, घर में कोई
व्यस्क न हो (
16-59 वर्ष),
परिवार में कोई सदस्य दिव्यांग हो, एवं अनुसूचित जाति एवं जनजाति से हो, घर की मुखिया महिला हो ऐसे लोगो को इस योजना
का लाभ मिलेगा एवं गांव में रहने वाले मजदुर
,भीख मांगने वाले, बेघर व्यक्ति और आदिवासी भी इस योजना के अंतर्गत आएंगे।

शहरी क्षेत्रों में
मोची
, सड़क पर काम करने वाले
लोग
, फेरीवाले, घरेलू काम काजी लोग, भिखारी, कचरा बीनने
वाले
, चोकीदार, प्लम्बर, सफाई कर्मी, पेंटर, मजदुर, मिस्त्री आदि लोग इस योजना का लाभ ले सकेंगे।

इस योजना में कैंसर
जैसी
1300 गम्भीर बीमारियों को
शामिल किया गया है। इन बीमारियों का इलाज सरकारी अस्पताल के साथ साथ प्राइवेट
अस्पतालों में भी आसानी से होगा।

इस योजना की सम्पूर्ण
जानकारी के लिए पीएम ने
14555 हेल्पलाइन
नंबर भी जारी किया है।जिस पर कॉल करके लोग इस योजना की पूरी जानकारी प्राप्त कर
सकते हैं।

इस योजना के लिए हर
अस्पताल चाहे वो निजी हो या सरकारी वहां पर एक आयुष्मान मित्र होगा। वह मरीज को
योजना का लाभ दिलवाने के लिए उसकी सहायता करेगा।

अस्पतालों में इसके लिए
एक सहायता केंद्र भी होगा जो इस के लिए दस्तावेज की जांच
, योजना में लाभ के लिए योजना में नाम के होने का सत्यापन
करने में मदद करेगा।

इस योजना में कुल 1354 पैकज शामिल किए गए हैं। इसमें कैंसर सर्जरी,
आंखों की सर्जरी, घुटनों का इलाज, सिटी स्केन, एमआरआई,
हार्ड बायपास सर्जरी, रेडिएशन थेरेपी, किमियोथैरेपी आदि बीमारियों को शामिल किया गया है।

[ad_2]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here